मसूरी। राष्ट्रीय सुरक्षा जागरण मंच की तीन दिवसीय सम्मेलन समाप्त हो गया। बैठक में राष्ट्रीय एकता व अखंडता को तोड़ने वाली राष्ट्रविरोधी ताकतों के खिलाफ जन जागरण करने के साथ ही पर्यावरण के संरक्षण के लिए भी कार्य करने का निर्णय लिया गया। इस मौके पर विधायक गणेश जोशी ने भी कार्यक्रम में भाग लिया। 

सम्मेलन के समापन पर वरिष्ठ स्वयं सेवक इंदे्रश कुमार ने बताया कि राष्ट्रीय कार्यकारणी की बैठक में देश भर से प्रतिनिधि शामिल हुए तथा कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गये। उन्होंने कहा कि बैठक में चीन व पाकिस्तान पर विशेष फोकस रहा व इन देशों के खिलाफ विश्व स्तरीय जनजागरण का निर्णय लिया गया। उन्होंने कहा कि चीन की विस्तारवादी नीति व पाकिस्तान की आंतकवादी नीति के खिलाफ जनजागरण करने का बैठक में प्रस्ताव पास किया गया। क्यों कि चीन पाकिस्तान, नेपाल, वर्मा अफगानिस्तान आदि देशों में अपना बर्चस्व कायम करना चाहता है हमारे हिमालयी क्षेत्र व वहां के प्राकृतिक संसाधनों पर कब्जा करना चाह रहा है ऐसे में उसकी आर्थिकी को कमजोर करने के लिए चीनी सामान को न खरीदने के लिए पूरे देश में जन जागरण किया जायेगा। वहीं कश्मीर से धारा 370 व 35ए के खिलाफ माहौल बनाने का कार्य किया जायेगा इसमें कश्मीर के लोगों को भी प्रोत्साहित किया जायेगा क्यों कि आज कश्मीर को स्वर्ग से नर्क बनाने में इन धाराओं का हाथ रहा है। वहीं प्र्यावरण के सरंक्षण के लिए भी जनजागरण करने का निर्णय लिया गया ताकि लोगे पेड़ लगायें, पानी को बचाएं। इसके लिए कार्यदल गठित किए गये। 

इस मौके पर मसूरी विधायक गणेश जोशी ने कहा कि पूर्व सैनिक होने के नाते वह बैठक में गये जहां देश के सेना के बडे़ अधिकारी, समाजसेवी, बुद्धिजीवी व विषय विशेषज्ञ मौजूद थे। उन्होंने कहा कि बैठक में राष्ट्रहित में अनेक निर्णय लिए गये, कश्मीर में धारा 370 व 35 ए के कारण जो नासूर बन गया है उसके खिलाफ जनजागरण करने का निर्णय लिया गया। उन्हांेने कहा कि देश में जो माबलिंचिंग हो रही है उसमें राष्ट्रविरोधी ताकतों का हाथ है। जो देश को अस्थिर करना चाहते हैं व भाजपा को बदनाम करना चाहते हैं। उन्होंने कहाकि मसूरी में गत वर्ष भी चाइना के बने सामानों का विरोध किया गया जो इस वर्ष भी किया जायेगा व जनता से अनुरोध किया जायेगा कि वह चाइना का बना सामान न खरीदें।
Share To:

Post A Comment:

0 comments so far,add yours