नई दिल्ली: एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि पीट-पीट कर मार डालना (मॉब लिंचिंग) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की विरासत है. उन्होंने कहा कि मोदी को भारतीय इतिहास में मॉब लिंचिंग के लिए याद रखा जाएगा, क्योंकि उनके कार्यकाल में इस तरह की सबसे ज्यादा घटनाएं हुई हैं. उन्होंने कहा, "मोदी सबके लिए नहीं बोलते हैं. वह उनके लिए चौकीदार हैं जो आरएसएस की विचारधारा में विश्वास रखते हैं. उसे वोट दीजिए जो यह महसूस नहीं करता कि वह भारत से बड़ा है.

मंगलवार को एआईएमआईएम प्रमुख व लोकसभा चुनाव में हैदराबाद संसदीय क्षेत्र से चौथी बार जीत का परचम लहराने की कोशिश कर रहे ओवैसी ने असम की घटना की निंदा की, जिसमें एक मुस्लिम व्यक्ति को कथित रूप से पीटा गया और जबरदस्ती पोर्क खाने के लिए मजबूर किया गया. उन्होंने मीडिया से कहा, "ये घटनाएं हमेशा मोदी को डराएंगी, क्योंकि प्रधानमंत्री के रूप में वे इसे रोक नहीं सके."

असदुद्दीन ओवैसी ने कहा, "इससे खराब क्या हो सकता है? एक राज्य में जहां गौकशी पर पाबंदी नहीं है और लोग बीफ खाते हैं, वहां 68 वर्षीय शौकत अली को बुरी तरह पीटा गया और जबरदस्ती पोर्क खाने को मजबूर किया गया."

ओवैसी ने कहा कि जो उसे पीट रहे हैं, उन्हें पता है कि उनकी रक्षा की जाएगी, क्योंकि उनकी खुद की पार्टी सत्ता में है. उन्होंने कहा, "मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद इस तरह के तत्व प्रोत्साहित हुए हैं." उन्होंने लोगों से उन लोगों के लिए मतदान करने के लिए कहा जो कमजोर, वंचित लोगों की बात करते हैं.
Share To:

Post A Comment:

0 comments so far,add yours