रानीगढ़ पट्टी के लदोली में लगाया गया तहसील दिवस, दूर-दराज क्षेत्र से शिकायत लेकर पहुंची जनता


कुलदीप राणा, रुद्रप्रयाग 
रुद्रप्रयाग। दो साल से घोस्याल निवासी महेश्वरी देवी मनरेगा में किये कार्यों के भुगतान लिए भटक रही है, लेकिन अधिकारियों के रवैये के कारण महिला का दो साल बाद भी मनरेगा में की गयी मजदूरी का भुगतान नही किया गया है। इसके बावजूद मनरेगा के क्रियान्वयन में उत्तराखंड अग्रणी पांच राज्यों में शामिल हुआ है। और तो और इसमें भी रुद्रप्रयाग जनपद को प्रथम स्थान प्राप्त हुआ है। बहरहाल महिला ने आज इसकी शिकायत बहुउद्देशीय शिविर में की, तो अब जिलाधिकारी ने प्रकरण की जांच के आदेश दे दिए हैं। 

हालिया राजकीय इण्टर काॅलेज लदोली में जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल की अध्यक्षता में तहसील दिवस एवं बहुद्देशीय शिविर का आयोजन किया गया। तहसील दिवस एवं शिविर में फरियादियों ने पेयजल, शिक्षा, स्वास्थ्य, सडक, आवास, पेंशन, बंदर व सुअर की समस्या से सम्बन्धित 63 शिकायतें दर्ज कराई, जिसमें से 37 शिकायतों का मौके पर निस्तारण किया गया। 

इस अवसर पर समाज कल्याण, स्वास्थ्य, कृषि,, खाद्य, पशुपालन, उद्यान, मत्स्य आदि विभागों ने सरकार द्वारा संचालित जन कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी जनता को दी गई। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने जिला खाद्य एव आपूर्ति विभाग की उज्जवला योजना के तहत 17 गरीब परिवारों को गैस कनेक्शन व विद्युत विभाग की सौभाग्य योजना के तहत तीन गरीब परिवारों को विद्युत कनेक्शन के मीटर वितरित किए। शिवर में स्वास्थ्य, राजस्व, ग्राम विकास, आयुर्वेदिक, होम्योपैथिक, पशुपालन, उद्यान, कृषि समेत 13 विभागों द्वारा विभागीय स्टाॅल एवं प्रदर्शनी लगाकर आमजनमानस को लाभान्वित किया गया।

शिविर में घोडस्याल निवासी माहेश्वरी देवी ने दो साल पहले मनरेगा के तहत कार्य किये जाने का भुगतान न होने पर दुख जताया। उन्होंने कहा कि एक ओर सरकार रोजगार की बात करती है, वहीं ग्रामीणों से रोजगार करवाकर भुगतान नहीं किया जा रहा है। इस मामले में जिलाधिकारी ने बीडीओ अगस्त्यमुनि व क्षेत्रीय ग्राम विकास अधिकारी को एक सप्ताह के भीतर प्रकरण की जांचकर भुगतान के निर्देश दिये गये। प्रधान कोदिमा ने बताया कि बरसात में उनकी ग्राम पंचायत के ग्रामीणों की फसलों को काफी क्षति हुई है। डीएम ने एसडीएम को क्षेत्रीय पटवारी से एक सप्ताह के भीतर खेतों के फसलों के नुकसान की जांच कराकर कारवाई करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही प्रधान कोदिमा ने बताया कि 13 अगस्त की भारी वर्षा से गांव की सिंचाई गूल व पेयजल स्त्रोत की पाइपलाइन भी क्षतिग्रस्त हो गई थी, जिस संबंध में एसडीएम सदर, अधिशासी अभियंता लघु सिंचाई, विश्व बैंक, जल संस्थान को संयुक्त रूप से जांच कर आख्या देने के निर्देश दिये गये। इसके साथ ही प्रधान जसोली ने राजकीय प्राथमिक विद्यालय जसोली तल्ली के जीर्णशीर्ण स्थिति, प्रधान कोदिमा ने राजकीय इण्टर काॅलेज चमकोट के अधूरे पडे़ निर्माण कार्य, उप प्रधान घोडस्याल ने प्राथमिक विद्यालय घोड़स्याल के खराब रास्ते के संबंध में शिकायत दर्ज कराई।


पेड़ो के ऊपर झूलते हुए तारो की समस्या के संबंध में डीएफओ मंयक शेखर ने ग्रामीणों को पेडों की लापिंग के सम्बन्ध में जानकारी देते हुए बताया कि जिस भी व्यक्ति को पेडो की लापिंग करानी हो वे आवेदन पत्र में पेड की फोटो ठीक प्रकार से खींच कर दे जिससे जल्द से जल्द लापिंग की जा सके। शिविर में स्वास्थ्य विभाग ने 79 लोगों का, आयुर्वेदिक विभाग ने 29 लोगों का, होम्योपैथिक विभाग ने 63 लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण कर दवाई दी। पशुपालन विभाग ने 77 पशुपालकों को दवा, उद्यान विभाग ने 1379 रूपये के पालक, मूली इत्यादि के बीज, कृषि विभाग ने 24 कृषकों को उर्वरक, पर्यटन विभाग ने 12 लोगों के होम स्टे के आवेदन के साथ ही राजस्व, ग्राम्य विभाग, समाज कल्याण विभाग द्वारा आय व विभिन्न प्रकार के अन्य प्रमाण-पत्र जारी व फार्म भरे गए। इस अवसर पर ब्लाॅक प्रमुख जगमोहन सिंह रौथाण, बीडीसी सदस्य भरत सिंह, प्रधान शशिकला, डीएफओ मंयक शेखर, प्रभारी सीडीओ एनएस रावत, सीएमओ डाॅ एस के झा, एसडीएम सदर देवानन्द, अधिशासी अभियन्ता लोनिवि इन्द्रजीत बोस, मनोज दास, आरडब्ल्यूडी श्रीपति डोभाल, जिला शिक्षाधिकारी माध्यमिक एल एस दानू, बेसिक विद्या शंकर चतुर्वेदी सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

उत्तराखंड 24 न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे यू-ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें |
Share To:

Post A Comment:

0 comments so far,add yours