पुष्कर सिंह नेगी, संवाददाता, चमोली 
108 आपातकालीन सेवा के संचालन को एनएचएम के तहत करने और कर्मचारियों की कार्य अवधि आठ घंटे करने सहित सात सूत्रीय मांगों को लेकर 108 ऐम्बुलेंस और खुशियों की सवारी के फील्ड कर्मचारी 26 जुलाई से अनिश्चितकालीन कार्य बहिष्कार पर रहेंगे।
108 कर्मचारियों ने जिलाधिकारी चमोली को भी ज्ञापन सौपते हुए कहा कि 108 के कर्मचारियों को न्यनतम वेतन भी नहीं दिया जा रहा है, जबकि वे दुर्गम क्षेत्रों में कार्य कर रहे हैं। कर्मचारियों की यह भी मांग है कि उत्तराखंड में भी हरियाणा की तरह ही 108 का संचालन हो और ठेकेदारी प्रथा भी बंद हो। साथ ही कर्मचारियों का कहना है कि उनकी गाड़ियों की दशा भी ठीक नहीं है, वे अपनी जान जोखिम में डाल कर गाड़ियों को चलाते हैं, इसलिए उन गाडिय़ों की भी मरम्मत की जाये। 

कर्मचारियों ने कहा है कि यदि उनकी मांगे नही मानी गई तो वे अपने सात सूत्रीय मांगों को लेकर 26 जुलाई से कार्य बहिष्कार करने के लिए मजबूर हैं। 

बहरहाल यदि 108 आपातकालीन सेवा व खुशियों की सवारी के कर्मचारियों ने अनिश्चितकालीन हड़ताल कर दी तो पहाड़ों में स्वास्थ्य सेवाओं पर इसका बुरा असर पडेगा, और लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पद सकता है। इसलिए सरकार को समय रहते इस दिशा में कोई कदम उठाना ही होगा। 

उत्तराखंड 24 न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे यू-ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें |
Share To:

Post A Comment:

0 comments so far,add yours