नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी के उत्तरी दिल्ली में एक सनसनी फैला देने वाला मामला सामने आया है. बुराड़ी इलाके के संत नगर में एक ही घर में 11 शव मिले हैं. जिसमे 7 महिलाओं और 4 पुरुषों के शव हैं. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी मौके का जायजा लिया।.
घटनास्थल पर मौजूद पुलिस 
जानकारी के मुताबिक मामला संत नगर के गुरूगोविंद सिंह हॉस्पिटल के सामने गली नंबर 2 का है। पुलिस को सुबह साढ़े सात बजे एक ही घर में शवों के होने की सूचना मिली, जिसके बाद मौके पर पहुंची और शवो को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. पुलिस का कहना है कि यह आत्महत्या का भी मामला हो सकता है. 11 शवों में सात महिलाओं की है जबकि चार पुरुष के हैं. मृतक परिवार भाटिया परिवार के नाम से जाना जाता था और दूध और फर्नीचर के कारोबार से जुड़ा हुआ था. मृतकों में दो लोगों के नाम प्रतिभा और प्रभजोत हैं.

Bodies of 7 women and 4 men found at a house in 's Burari; Police present at the spot, investigation on.
वहीं प्राथमिक रिपोर्ट के मुताबिक, सभी शव लटके हुए थे और उनके मूंह पर पट्टी बंधी हुई थी. वहीं किसी के हाथ बंधे मिले तो किसी के पैर बंधें मिले है. एक साथ 11 शव मिलने से इलाके में सनसनी फैल गई है. घटनास्थल पर लोगों का जमावड़ा लग गया है. 


Bodies of 11 members of a family found in a house in Delhi's Burari: 10 bodies were found blindfolded and hanging from a railing in the house and one body was found lying on the floor. The family owned a grocery shop- Sources
मौके पर पुलिस के आलाधिकारी पहुंच गये हैं और घटनास्थल का मुआयना कर रहे हैं. वहीं पुलिस ने लोगों की भीड़ को घटनास्थल से दूर कर दिया है और आसपास के जगहों को घेर दिया है. फिलहाल पुलिस ये पता लगाने की कोशिश कर रही है कि यह सामूहिक हत्या का मामला है या सामूहिक सुसाइड का है. फिलहाल सूसाइड या हत्या के कारणों की कोई जानकारी नहीं मिली है. 

पुलिस के अनुसार ये लोग मूलतः राजस्थान से ताल्लुक रखते हैं. यह परिवार इस इलाके में पिछले 22-23 सालों से रह रहा था. परिवार के लोगों का दूध और प्लाईवुड की दुकान है. साथ में एक किराने की एक दुकान भी थी. पुलिस ने बताया कि 11 लोगो के परिवार में दो भाई और उनकी पत्नियां थीं. दो लड़के करीब 16 से 17 साल के थे. मृतकों में एक बुजुर्ग मां और बहनें शामिल हैं. पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है.

पुलिस के मुताबिक 10 लोग फंदे से लटके मिले हैं जबकि एक बुजुर्ग महिला का गला दबाया हुआ है। रेलिंग से लटके 10 डेडबॉडी की आंख पर पट्टी बंधी मिली है. ऐसे में सवाल उठ रहा है कि जब पूरा परिवार आत्महत्या करना चाहता था तो आंख पर पट्टी बांधने की क्या जरूरत थी. कुछ शवों के हाथ-पैर भी बंधे मिले हैं और मौके पर कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है.

पुलिस का मानना है कि इस महिला की हत्या की गई है. 10 लोग जो फंदे से लटके मिले हैं वह सभी फर्स्ट फ्लोर पर मिले हैं. पुलिस को हत्या की आशंका इसलिए हो रही है क्योंकि घर की सबसे बुजुर्ग महिला का मर्डर गला दबाकर किया गया है. पड़ोसियों ने बताया कि घर का दरवाजा खुला हुआ था. ऐसे में सवाल उठता है कि आत्महत्या करने से पहले परिवार निश्चित तौर पर दरवाजा अंदर से बंद लेता, ताकि उन्हें ऐसा करने से कोई रोक न पाए.

लोगों ने बताया कि बीती रात परिवार आम रोज की तरह रात करीब 11.45 बजे दुकान बंद किया था. उस समय उन्हें देखकर कोई ऐसी बात की आशंका नहीं हुई.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मौके पर पहुंचकर जायजा लिया. केजरीवाल ने कहा कि 11 लोगों का शव एक साथ मिलना काफी दुखद है। पुलिस मामले की जांच कर रही है.

उत्तराखंड 24 न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे यू-ट्यूब चैनल को सब्सक्राईब करें
Share To:

Post A Comment:

0 comments so far,add yours