मसूरी: हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी श्री साई मंदिर के 23वें स्थापना दिवस के अवसर पर नगर में भव्य साईं शोभा यात्रा निकाली गई। साईं की पालकी के साथ ही विभिन्न मनमोहक झांकियों के साथ शोभा यात्रा लंढौर के अनुपम चौक से साईं मंदिर तक गई। हालाँकि यात्रा लाइब्रेरी चौक तक निकाली जाती है, किन्तु तेज हवा और बारिश के बीच शोभा यात्रा का समापन साईं मंदिर कुलड़ी में ही किया गया। शोभा यात्रा में भारी संख्या में शामिल हुए भक्तगण बारिश के बीच भी बेपरवाह होकर साईं के भजन कीर्तन के साथ आगे बढ़ते रहे। 
साईं शोभा यात्रा में शामिल श्रद्धालुगण
मंगलवार को श्री सांई मंदिर समिति के तत्वाधान में साईं मंदिर कुलड़ी के 23वें स्थापना दिवस पर भव्य शोभा यात्रा का आयोजन किया गया, हालाँकि तेज हवाओं के साथ भारी बारिश ने शोभा यात्रा में खलल डाल दिया, हालाँकि इसके बावजूद भी शोभा यात्रा में शामिल भारी संख्या में शामिल साईं भक्तों को बारिश भी विचलित नही कर पाई और साईं भक्त श्री साईं के भजन कीर्तन के साथ शोभा यात्रा में शामिल हुए। शोभा यात्रा में साईं की पालकी के साथ ही विभिन्न झांकिया आकर्षण का केंद्र रही। इस मौके पर श्रद्धालुओं ने प्रसाद ग्रहण कर साईं का आशीर्वाद प्राप्त किया।

साईं मंदिर समिति के अध्यक्ष हरिमोहन गोयल ने बताया कि मसूरी के साई मंदिर का अपना की महत्व है। उन्होंने कहा कि नौ मई 1996 के दिन कुछ लोगों द्वारा मंदिर की स्थापना की गई थी, मसूरी में जहां ये साई मंदिर स्थापित है वहां पर भगवान श्री सांई ने दर्शन दिये थे और मंदिर के पास पेड़ से राख निकलने लगी थी, जो आज भी बदस्तूर जारी है। उन्होंने बताया कि हर साल की भांति आज भी साईं मंदिर के 23वें स्थापना दिवस पर विशाल शोभा यात्रा का आयोजन किया गया है, जिसमें सभी धर्मों के श्रद्धालु शामिल होकर सर्वधर्म सद्भाव का संदेश देते हैं। उन्होंने कहा कि स्थापना दिवस पर शोभा यात्रा में शामिल होने के लिए पूरे उत्तराखंड से जगह जगह से श्रद्धालुगण आते है और अब यह शोभा यात्रा बड़ा मेला बन चुका है। उन्होंने बताया कि कल 9 मई को इस उपलक्ष्य में विशाल भंडारे का आयोजन किया जाता है। वहीँ उन्होंने बताया कि बाबा के सौ साल पूरे होने के उपलक्ष्य में मंदिर समिति द्वारा दशहरे में विशाल भंडारे के साथ ही चार दिवसीय स्वास्थ्य शिविर, नेत्र चिकित्सा शिविर व सिलाई बुनाई प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किये जाने का निर्णय भी लिया गया है।

शोभा यात्रा में मंदिर समिति के सचिव सुरेन्द्र सिंघल, ओम प्रकाश सिंघल, अमित सिघल, किशोर टम्टा, श्याम गुप्ता, अनुज तायल, अवतार कुकरेजा, कैंट सभासद पुष्पा पडियार, चंद्रकला, व्यापार संघ अध्यक्ष रजत अग्रवाल, जगजीत कुकरेजा, पंकज अग्रवाल, संदीप अग्रवाल, रविन्द्र गोयल, अनिल गोयल, नीमा कांत, निमेश डंगवाल, रचना सहित भारी संख्या में की सांई भक्त महिलाएं व पुरूष मौजूद रहे।

उत्तराखंड 24 न्यूज़ से जुड़े व अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे यू-ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।
Share To:

Post A Comment:

0 comments so far,add yours