टिहरी। कुछ समय से प्रतापनगर में आतंक का पर्याय बन चुका गुलदार आखिरकार वन विभाग के पिंजरे में कैद हो ही गया। बता दें कि इस गुलदार ने खोलगढ़ गांव में एक बच्चे का शिकार और एक बच्चे को घायल कर दिया था, जिसके बाद ग्रामीणों ने तहसील मुख्यालय पर प्रदर्शन भी किया था।

प्रतापनगर के खोलगढ़ गांव में पिछले 15 दिनों से एक गुलदार आतंक का दूसरा नाम बन गया था। ग्रामीणों के आग्रह पर वन विभाग की टीम ने गुलदार को पकड़ने की ठानी। टीम ने गांव में पिंजरा लगाया और उसे पकड़ने में सफलता पाई।

क्योंकि अब गुलदार पकड़ा जा चुका है, ग्रामीणों ने राहत की सांस ली है। वन बिभाग के दरोगा श्याम लाल ने बताया कि पकड़े गए मादा गुलदार को चिड़ियापुर जंगल में छोड़ा जाएगा।

गौरतलब है कि बीते सात फरवरी को खोलगढ़ गांव में गुलदार ने ग्रामीण महेश के पुत्र अनु को अपना निवाला बनाया था। वहीं 18 अप्रैल को इसी गुलदार ने खोलगढ़ गांव में ही रणदीप के बेटे सिद्धार्थ पर हमला कर दिया था, हालांकि ग्रामीणों के शोर मचाने पर गुलदार सिद्धार्थ को वहीं छोड़कर भाग गया था।

उत्तराखंड 24 न्यूज़ से जुड़े व अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे यू-ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।
Share To:

Post A Comment:

0 comments so far,add yours