मसूरी। विंटर लाईन कार्नेवल के तहत चौथी शाम जहाँ कवि सम्मेलन में कवियों ने श्रोताओ को मंत्रमुग्ध कर दिया, वहीँ इससे पहले लोक गायिका सोनिया आनन्द ने "बेडू पाको बार मासा" गाना गाकर विधानसभा अध्यक्ष, विधायक व एसडीएम सहित दर्शकों को थिरकने पर मजबूर कर दिया। कार्यक्रम का विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने दीप प्रज्वलित कर शुभारंभ किया। कार्यक्रम में विधायक गणेश जोशी, पालिकाध्यक्ष मनमोहन सिंह मल्ल सहित अन्य जनप्रतिनिधि व अधिकारीगण मौजूद रहे।

कार्नेवल की चौथी संध्या का शुभारंभ करते हुए विधान सभाध्यक्ष प्रेमचंन्द अग्रवाल ने कहा कि इस प्रकार के आयोजनों से मसूरी में जहाॅ सैलानियों की तादात में इजाफा हो रहा है, वही देश विदेश के लोगो को उत्तराखंड की संस्कृति से रूबरू करवाने का एक अच्छा संसाधन भी है। इससे पूर्व उन्होने फूड फेस्टीवल में लगे स्टालों में जाकर उत्तराखंडी व्यंजनो का स्वाद भी चखा।  


सांय 6 बजे से लेकर 7 बजे तक सोनियां आंनद रावत ने कई गढ़वाली व फिल्मी गाने सुनाकर दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। सोनिया ने जैसे ही बेडू पाको बारमास गाना शुरू किया विधानसभा अध्यक्ष प्रेम चन्द अग्रवाल व विधायक गणेश जोशी भी खुद को ठुमके लगाने से रोक नहीं सके, उनके साथ ही दर्शक भी जमकर झूमे।  

देर रात्री तक कवियों ने बाॅधा समा

इसके बाद क्लासिकल म्यूजिक से भी दर्शक मंत्रमुग्ध हुए। शाम को आयोजित कवि सम्मेलन में आये कवि डा0 अशोक चक्रधर, बलजीत कौर, रसिक गुप्ता, प्रताप फौजदार और सुरेंद्र दुबे ने अपनी कविताओं से दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। वहीं कवि डा0 अशोक चक्रधर ने दर्शकों की फरमाईस पर भी कई कवितायें सुनाई। कवि सरेंद्र दुबे भी कविता पाठ कर दर्शकों की वाह वाह लूटने में सफल रहे। वहीं कवि प्रताप फौजदार ने भी एक से बढकर एक कवितायें सुनाकर देर रात तक शमां बांधे रखा। 
इससे पहले 3 बजे से लेकर सांय 6 बजे तक मालरोड़ पर विभिन्न प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किये गये।

कुलड़ी में भारतीय जन नाटय संघ इप्टा से जुडे कलाकारों ने बेटी पढाओ.बेटी बचाओं शीर्षक नाम से नुक्कड नाटक का मनमोहक मचन कर महिलाओं के प्रति लोगो के नजरिया को बदलने का मैसेज दिया और आज के बदलते परिवेश में महिलाओं की कई वीरगाथाओं पर प्रकाश डालकर बेटी बचाओ बेटी पढाओं स्लोगन से एक जनजागरूकता का संन्देश भी दिया है। वही शहीद स्थल पर गढवाल की लोक संस्कृति की झलक से पूरे दिन पर्यटक रूबरू होते रहे ।

पर्यटकों ने उठाया पहाडी व्यंजनो का लुप्त

चौथे दिन उतराखंड टूरिज्म डेवलपमेंट बोर्ड द्वारा मालरोड़ पर तीन दिवसीय पहाड़ी व्यजनों के स्टाल लगाये गये, जिसका शुभारंभ फिल्म अभिनेता विक्टर बैनर्जी, क्षेत्रीय विधायक गणेश जोशी, पालिकाध्यक्ष मनमोहन सिंह मल्ल ने संयुक्त रूप से रिबन काटकर किया।

मालरोड़ पर लगाये गये विभिन्न तरह के पहाड़ी व्यंजनों के स्टालों पर सुबह से लेकर सांय तक लोगों की काफी भीड़ लगी रही,खासकर तिब्बती समुदाय के लोग पहाडी़ व्यजनों का लुफ्त लेते हुए नजर आये। स्टालों पर गहत के पराठे, मण्डवे की रोटी, गहत की दाल, पालक कार्न, कद्दू का रायता, आलु का थिंचवाणी, झंगोरे की खीर, पहाडी़ मठ्ठा, पहाडी़ दालों के पकोडे, बाल मिठाई, मच्छी, भात, तिल की चटनी, भूनी भात, भांग की चटनी,चावल के अरसे सहित अन्य पहाडी़ पकवानों के स्टाल लगाये गये हैं। पर्यटन विभाग द्वारा लगाये गये स्टालों पर बने पहाडी़ व्यजनों का पर्यटकों ने जमकर लुफ्त उठाया।
 
 
Share To:

Post A Comment:

0 comments so far,add yours